HomeMy Healthचमकदार त्वचा और बालों के लिए चुकंदर खाने के फायदे - chukandar...

चमकदार त्वचा और बालों के लिए चुकंदर खाने के फायदे – chukandar khane ke fayde

लाल रंग का दिखने वाला चुकंदर हमारी सेहत के लिए बहुत फायदेमंद होता है। चुकंदर में काफी मात्रा में लौह, विटामिन और खनिज होता है जो हिमोग्लोबिन बढ़ता है और रक्त को साफ करता है। फास्फोरस, पोटेशियम, सोडियम, क्लोरीन, आयोडीन और आयरन जैसे कई महत्वपूर्ण विटामिन भी इसमें पाये जाते हैं। चुकंदर में मौजूद फोलिक ऐसिड गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत फायदेमंद होता है। चुकंदर के पत्तों के सेवन से शरीर में खून की नहीं होता है।

Table of Contents

चुकंदर का इस्तेमाल क्यों फायदेमंद है आपकी त्वचा के लिए

चुकंदर उन दस शाक्तिशाली सब्जियों में आता है, जिनमें सबसे ज्यादा एंटीऑक्सीडेंट गतिविधियां होती है। इसमेें मिनरल्स और विटामिन्स के साथ ऐसे ही फाइटो कॉन्स्टिट्यूशन भी है, जिन्हें औषधि गुणों के लिए माना जाता है। (1) चुकंदर में एंटीमाइक्रोबियल और एंटी इंफ्लेमेटरी प्रभाव होते हैं। साथ ही विटामिन ए, बी 1, बी 2, बी 6 और सी से भी समृद्ध है। (2) इनकी वजह से चुकंदर‌ से त्वचा को क्या -क्या फायदे होते हैं।

इसे भी पढ़ें : – सर्दियों में गुड़ खाएं और जाने उसके असरदार फायदे

चुकंदर से त्वचा पर होने वाले फायदे – beetroot benefits for skin

त्वचा और बालों के लिए चुकंदर बहुत फायदेमंद होता है। नीचे हम आपको विस्तार से चुकंदर से त्वचा पर होने वाले फायदे बतायेगें।

chukandar for skin
चुकंदर से त्वचा पर होने वाले फायदे

1. चुकंदर से एंटी एजिंग के प्रभाव

त्वचा पर चुकंदर का इस्तेमाल करके समय से पहले आने वाले बुढ़ापे को रोका जा सकता है। इसमें सिलिका नामक तत्व होते है , जो स्किन को स्वस्थ रखता है। अगर आपकी त्वचा स्वस्थ रहेगी तो समय से पहले आपकी त्वचा बूढ़ी नहीं दिखेंगी।

चुकंदर विटामिन-सी से भरपूर होता है। इसमें विटामिन को एंजिग के लक्षणों, जैसे झुर्रियां को कम करने में और ढीली त्वचा को टाइट करने में मदद करता है।

2.त्वचा को निखारने में लाभदायक चुकंदर

त्वचा पर निखार लाने में चुकंदर मददगार होता है। चुकंदर में मौजूद बीटेन (betaine) स्किन व्हाइटनिंग एजेंट की तरह काम कर सकता है। वह त्वचा के एमआईटीएफ(MITF) जीन को कम करके मेलेनिन(स्किन कलर) बनाने वाले सिग्नल को प्रभावित करता है। इसी वजह से चुकंदर को त्वचा की रंगत निखारने के लिए अहम माना जाता है।

3.चुकंदर एक्ने और मुहांसे को कम करने में मददगार

एक्ने और मुहांसे को कम करने के लिए चुकंदर का इस्तेमाल फायदेमंद साबित हो सकता है। चुकंदर में मौजूद एंटी इंफ्लेमेटरी प्रभाव की वजह से एक्ने से बचाव और मुहांसे की स्थिति में सुधार हो सकता है। इसके लिए चुकंदर के टुकड़े करके पानी में उबालें और फिर उसी पानी से चेहरे को धो सकते हैं या फिर रूई की मदद से चुकंदर का रस चेहरे पर लगा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें :- चेहरा साफ करते समय न करें गलती, स्किन को नुकसान होता है

4.डार्क सर्कल के लिए चुकंदर

चुकंदर के इस्तेमाल से या त्वचा पर लगाकर काले घेरे को कम किया जा सकता है। यह विटामिन सी से समृद्ध होती है। यह विटामिन कोलेजन उत्पादन बढ़ाने के साथ ही आंखों के नीचे दिखने वाले काले घेरे के रक्त के ठहराव को कम कर सकता है। इससे काले घेरे की स्थिति में सुधार हो सकता है।

5.असमान रंगत और काले धब्बों के लिए चुकंदर के फायदे

स्किन व्हाइटनिंग एजेंट की तरह कार्य कर सकता है। इस वजह से माना जाता है कि चुकंदर काले धब्बें और असमान रंगत को कम कर सकता है। साथ ही चुकंदर में भरपूर मात्रा में विटामिन सी होता है। एक रिसर्च के मुताबिक, विटामिन-सी मेलेनिन को कम कर सकता है। यही कारण है कि चुकंदर को काले धब्बे और असमान रंगत को ठीक करने वाला बताया जाता है।

सुन्दर त्वचा के लिए चुकंदर के फायदे

त्वचा के लिए चुकंदर के इस्तेमाल के तरीके को नीचे लेख में विस्तार से बता रहे हैं।

एलोवेरा चुकंदर फेसपैक-

चुकंदर के साथ एलोवेरा मिक्स कर दीजिए और फेसपैक बनाकर अपने चेहरे पर लगाएं। लगभग 10 मिनट तक इस पैक को चेहरे पर लगा रहने दें और फिर चेहरे को नार्मल पानी से धो लिजिए।

चुकंदर और गुलाब जल फेसपैक-

चुकंदर का पेस्ट बना लें या फिर इसका रस निकाल लीजिए और कुछ बूंदे गुलाब जल की मिलाकर पेस्ट बनाएं इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं, पेस्ट सूखने पर ठंडे पानी से धो लिजिए।

इसे भी पढ़ें :- बेसन के फेस पैक से रंगत निखरने समेत फायदे, चेहरे पर बेसन लगाने के फायदे

चुकंदर और बेसन का फेसपैक-

दही, बेसन और चुकंदर का रस मिलाकर पेस्ट बना लें और इस पेस्ट को अपने चेहरे पर लगाएं और थोड़ी देर बाद पानी से चेहरे को अच्छी तरह धो लिजिए।

चुकंदर टोनर-

चुकंदर के बारीक टुकड़े करके कुछ देर तक पानी में उबाल लें। जब पानी ठंडा हो जाए, तो उसे चेहरे पर लगा लें। यह स्किन टोनर की तरह काम करेगा। आप स्प्रे बोतल में डालकर इस पानी को दो से तीन दिन तक इस्तेमाल कर सकती है।

चुकंदर और शहद का फेसपैक-

चुकंदर को बारीक पीसकर इसमें शहद मिलाकर पेस्ट बनाएं और इस पेस्ट को चेहरे पर लगाएं सूखने के बाद पानी से चेहरे को धो लिजिए।

चुकंदर से बालों को होने वाले फायदे – beetroot juice for hair

अगर आप बालों की समस्या से परेशान हैं तो चुकंदर का रस बालों में लगाएं और अपने बालों की समस्या से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकते हैं।

chukndr for hair
चुकंदर से बालों को होने वाले फायदे

झड़ते और टूटते बालों की समस्या आज के समय में आम बात हो गई है। पुरूष हो या महिला बालों की समस्या से पीड़ित हैं। तरह-तरह नुस्खे आजमाने के बाद भी आपकी परेशानी खत्म नहीं हो रही है तो आज हम आपके लिए बालों की समस्या से निजात पाने के लिए कारगर नुस्खे बतायेगें। बालों पर चुकंदर का रस लगाने से बालों की तमाम प्रकार की समस्यायें दूर होती है और बाल मजबूत और घने होते हैं।

चुकंदर एक बेहतरीन फल है, जो खून को बढ़ाने से लेकर ब्लेड प्रेशर नियंत्रित करने में मददगार होता है। स्कैल्प पर चुकंदर का रस लगाने से डैड स्किन्स हटती है साथ ही स्कैल्प की नमी बरकरार रहती है। चुकंदर के रस में विटामिन बी 6, विटामिन-सी, कैरेटेनाइड्स और पोटेशियम आदि पाये जाते हैं। जो स्कैल्प के ब्लेड सर्कुलेशन बढ़ाकर बालों को पोषण देता है। आइए जानते हैं बालों में चुकंदर के रस लगाने से होने वाले फायदे।

1.बालों का झड़ना कम करें चुकंदर से

चुकंदर का रस झड़ते और टूटते बालों के लिए किसी औषधि से कम नहीं है। चुकंदर के रस में विटामिन ए, प्रोटीन और कैरेटेनाइड्स पाये जाते हैं, जो स्कैल्प के खुले हुए रोमछिद्र को भरकर उसमें कसाव लाते हैं, जिससे बालों की जड़ें मजबूत होती हैं। कैरेटेनाइड्स मुख्य से हेयर फॉलिकल्स तक नमी पहुंचाते है, जिससे बालों का झड़ना कम होता है।

चुकंदर के रस में इलेक्ट्रोलाइट्स के साथ ही पोटेशियम भी पाया जाता है, जो बालों को पतला और कमजोर बनाने से बचाता है।

2. डैंड्रफ से मिले छुटकारा

डैंड्रफ बालों के लिए बहुत बड़ी समस्या है। इससे आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है। बालों पर चुकंदर का रस लगाने से स्कैल्प का रूखापन दूर होता है, जिससे डैंड्रफ से राहत मिलती है‌। इसे लगाने से हेयर फॉलिकल्स तक नमी पहुंचाती है। इसमें मौजूद विटामिन-सी और ए बालों को माश्रृराइजर की कमी को पूरा करते हैं। इसे लगाने से स्कैल्प की खुजली भी दूर होती है। अगर आप बालों के डैंड्रफ से परेशान हैं तो चुकंदर का रस लगाने से आपकी यह समस्या खत्म हो सकती है।

3.स्कैल्प के ब्लेड सर्कुलेशन को बेहतर बनाने में मददगार

स्कैल्प का ब्लेड सर्कुलेट होना बहुत जरूरी होता है। अगर आपके स्कैल्प के ब्लेड सर्कुलेशन ठीक नहीं है तो आपके बाल पतले और कमजोर होकर टूट सकतें हैं। ऐसे में चुकंदर का रस मालिश करने से आपके स्कैल्प का ब्लेड सर्कुलेशन ठीक रहता है। इसे लगाने के लिए आप इसे पानी में उबाल कर गुनगुना करने के बाद स्कैल्प पर लगा सकते है। या फिर चुकंदर के रस से मालिश कर सकते हैं इससे आपके बाल मजबूत बनेंगे।

इसे भी पढ़ें :- बालों के झड़ने की समस्या से छुटकारा पाएं इन घरेलु नुस्खों से

4.बालों को सफेद होने से बचाता है चुकंदर

चुकंदर का रस बालों में लगाने से नेचुरल कलर जैसा काम करता है। इसे लगाने से आपके बाल उम्र से पहले सफेद होने से बचा सकते हैं। इसमें पाए जाने वाले कैरेटेनाइड और विटामिन्स बालों सफेद होने की प्रक्रिया को धीमी करते हैं। चुकंदर का रस लगाने से बालों में प्राकृतिक रूप से शाइन आता हैं और बाल काले होते हैं। जिसके बाल सफेद हो गये है वो चुकंदर का रस लगा सकते हैं इससे सफेद बालों की संख्या में कमी आयेगी।

5.बालों के रूखापन को दूर करने में सहायक है चुकंदर

चुकंदर का रस शरीर में पानी पहुंचने के साथ ही स्कैल्प तक नमी पहुंचाता है। स्कैल्प पर चुकंदर का रस लगाने से आपको सभी पोषक तत्व मिलने के साथ ही स्कैल्प को नमी मिलती है। चुकंदर के रस में इलेक्ट्रोलाइट्स होने के साथ ही विटामिन ई, सी और विटामिन ए मौजूद होते हैं, जो बालों का रूखापन दूर कर उन्हें हर समय हाइड्रेट रखते हैं। इससे आपके हेयर फॉलिकल्स की नमी बरकरार है।

चुकंदर का रस बालों में इस्तेमाल करने का तरीका – beetroot for hair

1.अगर आप बालों को चमकदार बनाना चाहते हैं तो चुकंदर का रस नारियल तेल या ऑलिव ऑयल में मिलाकर लगाएं।

2. कमजोर और पतले बालों में नारियल को पीसकर उसमें चुकंदर का रस मिलाकर और अपने बालों में लगाएं।

3. अगर आपके बाल झड़ने की समस्या है तो आप चुकंदर के रस में थोड़ा सा नींबू का रस मिलाएं और इसे अपने स्कैल्प पर लगाकर थोड़ा सा मसाज करें। ध्यान रखें रस हल्का गाढ़ा होना चाहिए।

चुकंदर का रस बालों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह बालों को मजबूत बनाता है और बालों की सारी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है।दिये गये लेख के अनुसार अपने बालों पर इस्तेमाल करें।

चुकन्दर का जूस कैसे बनाये – how to make beetroot juice

चुकंदर का जूस हमेशा किसी अन्य सब्जी या किसी फल के जूस के साथ मीलाकर ही पीना चाहिए।

सामग्रीमात्रा
छोटा चुकंदर1 चुकंदर
सेब 1/2 सेब
गाजर 1/2 गाजर
टमाटर 1/2 टमाटर
अदरक का टुकड़ा 1/2 टुकड़ा
नमक स्वादानुसार
काला नमक 1/4 चम्मच
चाट मशाला 1/2 छोटा चम्मच
भुना जीरा 1/4 छोटा चम्मच
2 लोगों के लिए चुकंदर का जूस बनाने की सामग्री
beetroot juice
चुकन्दर का जूस

चुकंदर का जूस बनाने की विधि

  • चुकंदर, सेव, गाजर, टमाटर और अदरक को अच्छे से धूल कर रखे और चुकंदर को छोटे छोटे टुकड़ों में काट लें। साथ ही बाकी फलों को भी काट लें।
  • इन सभी को १.५ गिलास पानी डालकर मिक्सर में अच्छी तरह से पीस लें और काला नामक दाल दें।
  • इसे अच्छे से छान लें और ऊपर से चाट मशाला दाल दें।
  • आपका हेल्दी चुंकदर का स्वादिस्ट जूस पिने के लिए तैयार है।

अक्सर पूंछे जाने वाले सवाल

चुकंदर कब खाना चाहिए?

गर्मियों में चुकन्दर का सेवन करना ज्यादा फायदेमंद होता है। चुकंदर को स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इसे आप कच्चा शलाद के रूप में या फिर इसका जूस बना कर भी पी सकते हैं।

चुकन्दर खाने से क्या नुकसान है?

चुकन्दर में नाइट्रेट की मात्रा पाई जाती है। अतः चुकन्दर के ज्यादा मात्रा में सेवन करने के कारण पेट खराब हो सकता है। इससे पाचन सम्बंधित समस्या भी हो सकती है यदि इसका सेवन अधिक किया जाए।
नाइट्रेट की वजह से गर्भवती महिलाओं को चुकन्दर का सेवन बहुत कम मात्रा में करने की सलाह दी जाती है।

चुकंदर की तासीर क्या है?

चुकन्दर की तासीर ठंडी होती है।
इसीलिए चुकन्दर को गर्मियों में खाना ज्यादा अच्छा माना जाता है। तासीर का मतलब प्रभाव से होता है। चुकंदर को गर्मी में खाने से यह आपके शरीर को ठंडक प्रदान करता है।

क्या चुकन्दर खाने से बेली फैट कम होता है?

जी हाँ, चुकन्दर के सेवन से बेली फैट को कम किया जा सकता है।
चुकंदर के जूस में विटामिन सी, फाइबर, नाइट्रेट, बेटानिन जैसे पोषकतत्व पाये जाते हैं। जो बेली फैट को कम करने में सहायक होते हैं।

चुकंदर में न्यूट्रिशन की मात्रा क्या है?

100 ग्राम चुकंदर में न्यूट्रिशन की मात्रा-
कैलोरी 43 मिलीग्राम, फैट 0.2 ग्राम, शुगर 6.8 ग्राम, प्रोटीन 1.6 ग्राम, कैल्शियम 16 मिलीग्राम, आयरन 0.80 मिलीग्राम समेत अन्य कई पोषक तत्त्व पाये जाते हैं।

नोट :- इस लेख में दी गयी जानकारी इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारियों से ली गयी है। जो की सिर्फ जानकारी उपलब्ध कराने के लिए है। इसे उपयोग करने से पहले एक बार किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह जरूर लें। यदि आप इस टिप्स का उपयोग कर रहे हैं तो अपने अनुभव जरूर साझा करें। जिससे की और सभी पाठक को सटीक जानकारी प्राप्त हो सके।

Team : myhealth.thequizpro.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular