HomeMy Healthशरीर में कैल्शियम की कमी के लक्षण, और इसे दूर करने के...

शरीर में कैल्शियम की कमी के लक्षण, और इसे दूर करने के उपाय

हमारे शरीर में कैल्शियम बहुत ही जरूरी होता है। शरीर में कैल्शियम की कमी होने की वजह से कई तरह की बिमारियां हो सकती है। आजकल भाग दौड़ भरी जिंदगी में लोग अपने सेहत का खास ख्याल नहीं रख पाते हैं। इसी वजह से सही तरीके से अपने खान पान भी नहीं कर पाते हैं। शरीर से कैल्शियम की कमी दूर करने के लिए पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए। कैल्शियम हमारे शरीर के पोषक तत्व में से एक माना जाता है। कैल्शियम की कमी की समस्या ज्यादातर महिलाओं में देखने को मिलती है। जनिए शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर कौन-कौन से लक्षण दिखाई देते है।

शरीर में कैल्शियम की कमी के लक्षण

1.मसूड़ों और दांतों में दर्द

अगर आपके शरीर में कैल्शियम की कमी हो गई है तो आपके दांत में दर्द होगा और कमजोर होकर टूटने लगेंगे। और साथ ही आपके मसूड़ों में दर्द की समस्या शुरू हो जाती है।

इसे भी पढ़ें :- सर्दियों में गुड़ खाएं और जाने उसके असरदार फायदे

2.कमजोर होने लगती है रोग प्रतिरोधक क्षमता

कैल्शियम हमारे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ता है। अगर आपके शरीर में कैल्शियम की कमी होगी तो आप बार बार बिमार पड़ने लगेंगे। जिनके शरीर में कैल्शियम की कमी होती है उनके सांस संबंधी रोग हो सकते हैं ।

3.हड्डियां कमजोर होती है

शरीर में कैल्शियम की कमी होने पर हड्डियां कमजोर हो जाती है। जिससे मांसपेशियों में दर्द शुरू हो जाता है। जिसके वजह से किसी भी इंसान को जल्दी थकान महसूस होने लगता है।

4.टूटने लगते हैं नाखून

जिनके शरीर में कैल्शियम की कमी हो होती है उनके नाखून कमजोर हो जाते हैं और वह जल्दी जल्दी टूटने लगते हैं। नाखून के बीच में सफेद रंग के चित्ती पड़ने लगते हैं।

5.सिर में दर्द

शरीर में कैल्शियम की कमी की वजह से सिर में दर्द होता है और नींद कम आना, हाथ पैर में झनझनाहट की समस्या महसूस होता है।

6.हाथ-पैर में होना

जिनके कैल्शियम की कमी होती है वह थोड़ा सा काम करने से ही थकान महसूस करने लगते हैं। साथ ही उनके हाथ और पैर में काफी दर्द रहता है।

7. जोड़ो में दर्द होना

जिनके शरीर में कैल्शियम की कमी होती है उनके जोड़ो में दर्द होता है और ऐंठन की समस्या हो सकती है।

कैल्शियम की कमी होगी पूरी, अपनी डाइट में शामिल करें ये चीजें

शरीर को सेहतमंद रखने के लिए आवश्यक पोषक तत्व की जरूरत होती है। आवश्यक पोषक तत्व में जैसे- विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, जिंक, प्रोटीन, कैल्शियम, फाइबर, सोडियम, पोटेशियम आदि मुख्य पोषक तत्व शामिल हैं। इनमें से किसी एक की कमी से सेहत पर बुरा असर पड़ सकता है। इसलिए अपने आहार में सभी पोषक तत्वों को जरूर शामिल करें।

सीफूड का सेवन

सीफूड में भी कैल्शियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है। इसमें ओमेगा – फैटी एसिड पाया जाता है। इसके लिए सीफूड जैसे सैल्मन , टूना, मेकरेल का सेवन कर सकते हैं। सीफूड के सेवन से कैल्शियम की कमी दूर हो जाती है।

fruits and vegetables
फल और हरी पत्तेदार सब्जियां

फल और हरी सब्जियों का सेवन करें

अपने डाइट में हमेशा हरी सब्जियां और फलों को जरूर शामिल करना चाहिए। हरी सब्जियां और फलों में कैल्शियम पाये जाते हैं। इसके लिए अपने डाइट में पालक, सोयाबीन,केला, ब्रोकली और संतरा आदि चीजों को जरूर शामिल करें।

डाइट में शामिल करें डेयरी प्रोडक्ट्स

कैल्शियम की कमी को दूर करने के लिए प्रतिदिन ज्यादा से ज्यादा डेयरी प्रोडक्ट्स का सेवन करना चाहिए। इसके लिए दूध , दही, मक्खन, पनीर आदि चीजों को अपने डाइट में शामिल करें। बच्चों को रोजाना एक गिलास दूध पीने की सलाह दें।

इसे भी पढ़ें :- बीन्स खिलाने से मिलते है शिशुओं को फ़ायदे, जानिए खिलाने के तरीके और कुछ सावधानियां

बादाम का सेवन करें

बादाम खाकर भी अपने शरीर में कैल्शियम की कमी पूरी कर सकते हैं। इसके लिए रात में कम से कम 12 बादाम भिगो दें और सुबह छिलका उतार कर खा लें। बादाम खाते समय इन्हें अच्छी तरह से चबाएं। इससे आंतों में पहुंचने के बाद इन्हें पसीना को शरीर में अच्छी तरह खूबियों को सोखने आसान होता है। आप चाहे तो बादाम मिल्क भी बना सकते हैं।

बीन्स में भरपूर कैल्शियम होता है

बीन्स सिर्फ कैल्शियम से ही भरपूर नहीं होता है बल्कि इनमें प्रोटीन की मात्रा भी बहुत अधिक होती है। ऐसे में आप बीन्स के सलाद यह सब्जी का नियमित रूप से सेवन कर सकते हैं। हमारे देश में कई तरह के बीन्स होती है। तो हर दिन अलग तरह की बीन्स की सब्जी खाएं। स्वाद भी बदलता रहेगा और सेहत भी बनी रहेगी।

सफेद तिल के लड्डू

आपने सफेद तिल के लड्डू तो खाएं होंगे लेकिन यह बात आपको शायद ही पता हो कि तिल कैल्शियम से भरपूर होते हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि अगर आप एक दिन में बड़े साइज के तिल के दो लड्डू खा लेते हैं तो शरीर में कैल्शियम की करीब आधी जरूरत पूरी हो जाती है। क्योंकि 1 टेबल स्पून में करीब 88 मिलीग्राम कैल्शियम होता है। लेकिन इस बात ध्यान रखें कि तिल तासीर में बहुत अधिक गर्म होते हैं। इसलिए आपकी डाइट में शामिल अन्य चीजें ठंडी प्रकृति की होनी चाहिए। जैसे- संतरा,‌‌‌अंगूर, बीन्स और अन्य फ्रूट्स।

नोट :- इस लेख में दी गयी जानकारी इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारियों से ली गयी है। जो की सिर्फ जानकारी उपलब्ध कराने के लिए है। इसे उपयोग करने से पहले एक बार किसी अच्छे डॉक्टर से सलाह जरूर लें। यदि आप इस टिप्स का उपयोग कर रहे हैं तो अपने अनुभव जरूर साझा करें। जिससे की और सभी पाठक को सटीक जानकारी प्राप्त हो सके।

Team : myhealth.thequizpro.com
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular